अपेक्षा से पहले आए परिणाम पर उठ सकते हैं कई सवाल 

पर्सेन्टाइल के आधार पर जनवरी-2019 जेईई-मेन का परिणाम जारी

एनटीए द्वारा आयोजित जनवरी जेईई-मेन परीक्षा का परिणाम एनटीए स्कोर को 7 डेसिमल तक पर्सेन्टाइल के रूप में जारी किया गया है। यह एनटीए स्कोर कुल प्राप्तांकों की पर्सेन्टाइल एवं प्रत्येक विषय में प्राप्तांकों पर पर्सेन्टाइल के रूप में जारी किया गया है। यह पर्सेन्टाइल उस विद्यार्थी के परीक्षा सेशन में कुल बैठने वाले विद्यार्थियों की संख्या एवं उस सेशन में अधिकतम अंक के आधार पर जारी की गई है। यह पर्सेन्टाइल नियम कुल औसतन प्राप्तांकों पर भी लागू है और उसी अनुसार मैथ्स, फिजिक्स और केमेस्ट्री के प्राप्तांकों पर भी लागू किया गया है।
इधर, विद्यार्थियों में असमंजस
जारी किए गए परिणाम पहले तो 31 जनवरी को जारी किए जाने थे,  एनटीए द्वारा विद्यार्थियों को जेईई-मेन आंसर की जारी किए जाने के बाद दिए गए आंसर को चैल्ेंज करने का अवसर 17 जनवरी तक दिया गया था। उसी के एक दिन बाद ही परिणाम घोषित कर दिया गया। विद्यार्थियों को पूर्ण आशा थी कि जारी किए गए परिणामों में उनका एक्जेक्ट जेईई-मेन स्कोर भी जारी किया जाएगा, जिससे वह अपने स्कोर के अनुरूप गत वर्षों की कटऑफ को देखते हुए परिणामों से तुलना कर, अपने जेईई-एडवांस्ड की परीक्षा में बैठने की पात्रता को समझ सकते थे। परन्तु बिना जेईई-मेन स्कोर के सीधे पर्सेन्टाइल आने से विद्यार्थियों में असमंजस की स्थिति बनी हुई है, क्योंकि बहुत से विद्यार्थियों द्वारा जेईई-मेन एनटीए द्वारा जारी की गई आंसर की को चैलेंज करते हुए अपने जोडे़ गए अंकों में बढ़ोतरी की अपेक्षा थी। परन्तु उन्हें अपना स्कोर पता न चलने के कारण जेईई-मेन ने उनके द्वारा चैलेंज किए गए प्रश्नों को सही माना या गलत यह स्पष्ट नहीं हो सका है। एनटीए द्वारा यह भी स्पष्ट नहीं किया गया कि कितने प्रश्नों को चैलेंज करने के उपरान्त चैलेंज को स्वीकार किया गया या नहीं, इसकी अभी तक कोई संशोधित आंसर की भी जारी नहीं की गई। वहीं बहुत से विद्यार्थियों ने अपना जेईई-मेन का स्कोर एनटीए द्वारा प्रकाशित आंसर की के अनुरूप कैलकुलेट ही नहीं, इधर उसका परिणाम में बिना स्कोर के पर्सेन्टाइल आने से विद्यार्थी असमंजस में आ गए। यदि इस वर्ष भी जेईई-मेन के आधार पर एडवांस्ड की परीक्षा के लिए 2 लाख 24 हजार विद्यार्थियों को क्वालीफाई किया जाता है तो जेईई-मेन जनवरी में बैठे 8 लाख 74 हजार 469 विद्यार्थियों में से वे विद्यार्थी जिनका पर्सेन्टाइल स्कोर 77 पर्सेन्टाइल से अधिक है एडवांस्ड की परीक्षा के लिए पात्र घोषित हो सकते हैं।
जनवरी जेईई-मेन में अपेक्षा के अनुरूप परिणाम प्राप्त नहीं होने वाले विद्यार्थियों को निराश होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि उनके पास अभी अप्रेल जेईई-मेन देना का विकल्प खुला हुआ है। साथ ही एनटीए द्वारा ऑल इंडिया रैंक बनाने के लिए विद्यार्थियों की दोनों जेईई-मेन देने के उपरान्त प्राप्तांकों पर निकाली गई, अधिकतम पर्सेन्टाइल के आधार पर ही ऑल इंडिया रैंक जारी की जाएगी।
परीक्षा एक नजर में
एनटीए द्वारा जारी की गई सूचना के अनुसार 8 से 12 जनवरी के मध्य दो शिफ्टों में देश विदेश के 258 शहरों बने 467 परीक्षा केन्द्रों पर संपन्न हुई, जिसमें 9 लाख 29 हजार 198 विद्यार्थी बीई-बीटेक के लिए शामिल हुए, जिसमें से 9 लाख 29 हजार 198 विद्यार्थी बीई-बीटेक के लिए पंजीकृत हुए, जिसमें से 8 लाख 74 हजार 469 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। इस परीक्षा में कुल 15 विद्यार्थियों ने 100 पर्सेन्टाइल एनटीए स्कोर प्राप्त किया। इसी प्रकार सभी स्टेट के टॉपर विद्यार्थियों की सूची जारी की गई, जिसमें 34 स्टेट के 44 टॉपर्स की सूची, साथ ही एक प्रवासी भारतीयों में एक विद्यार्थी का भी नाम जारी किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *