अप्रेल जेईई-मेन के प्रवेश पत्र जारी

📌 श्रेष्ठ 2 लाख 45 हजार स्टूडेंट्स को मिलेगा एडवांस्ड देने का मौका

📌 गत वर्ष की अपेक्षा 21 हजार अधिक स्टूडेंट्स को मिलेगी पात्रता

जेईई-मेन अप्रेल परीक्षा 7 से 12 अप्रैल के मध्य 10 शिफ्टों में होने जा रही है। यह परीक्षा प्रत्येक दिन दो शिफ्टों में सुबह 9.30 से 12.30 एवं दोपहर 2.30 से 5.30 तक देश के 273 शहरों में एवं विदेश के 09 शहरों में संपन्न होगी, जिसमें दस लाख से ज्यादा विद्यार्थियों के शामिल होने की संभावना है। जारी किए गए प्रवेश पत्र में विद्यार्थी को एक दिन पूर्व अपने परीक्षा केन्द्र को देखने की सलाह दी गई है। विद्यार्थी परीक्षा प्रारंभ होने के 2 घंटे पूर्व रिपोर्ट कर सकता है, साथ ही परीक्षा प्रारंभ होने से आधा घंटे पहले परीक्षा केन्द्रों में प्रवेश रोक दिया जाएगा। विद्यार्थी को आवेदन के दौरान लगाए गए, एक फोटोग्राफ के साथ-साथ एक आईडी प्रुफ जैसे कि पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आइडी, पासपोर्ट, आधार कार्ड, राशन कार्ड में से किसी भी एक फोटो आईडी प्रुफ लाने के निर्देश दिए गए हैं। शारीरिक विकलांग विद्यार्थियों को अपना विकलांगता प्रमाण पत्र साथ में ले जाना होगा। विद्यार्थियों को परीक्षा हाल में कोई भी इलेक्ट्रोनिक डिवाइस ले जाने की अनुमति नहीं होगी। विद्यार्थियों को परीक्षा हाल में ही पेन पेंसिल व रफ कार्य हेतु शीट दी जाएगी। विद्यार्थी दी गई शीट पर अपना नाम, रोल नम्बर लिखकर ही उसका उपयोग कर सकेगा। अंत में परीक्षा समाप्त होने पर यह शीट परीक्षक को पुनः लौटानी होगी। परीक्षा के दौरान विद्यार्थी का फोटो, हस्ताक्षर एवं अंगूठे के निशान दी गई अटेंडेंस शीट पर लिया जाएगा। विद्यार्थी परीक्षा प्रारंभ होने से पहले अपनी सीट ग्रहण कर दिए गए कम्प्यूटर पर लाॅगिन कर परीक्षा से संबंधित निर्देश पढ़ सकता है। जेईई-मेन अप्रेल का परीक्षा परिणाम 30 अप्रेल को घोषित किया जाएगा, जिसमें विद्यार्थियों के जनवरी व अप्रेल दोनों परीक्षाओं में से उच्चतम एनटीए स्कोर के आधार पर जेईई-मेन की आॅल इंडिया रैंक एवं एडवांस्ड देने की पात्रता घोषित होगी।

जेईई मेन द्वारा शीर्ष 2.45 लाख स्टूडेंट्स को एडवांस्ड देने का मौका 

27 मई को आईआईटी रूडकी द्वारा आयोजित करवाई जा रही जेईई-एडवांस्ड परीक्षा दो पारियों में संपन्न होगी। इस परीक्षा द्वारा 23 आईआईटी की 11279 सीटों पर प्रवेश मिलता है। इस वर्ष प्रथम बार जेईई-मेन एनटीए स्कोर के आधार पर सभी कैटेगिरी मिलाकर शीर्ष 2 लाख 45 हजार विद्यार्थियों को एडवांस्ड परीक्षा के लिए पात्र घोषित किया जाएगा, जबकि गत वर्ष 2 लाख 24 हजार विद्यार्थियों को ही योग्य घोषित किया था। इस वर्ष यह संख्या 21 हजार अधिक है।
अप्रेल आवेदन के दौरान जिन विद्यार्थियों ने गलती से दिए गए दोनों विकल्पों द्वारा दो आवेदन कर दिए थे और उनकी जनवरी व अप्रेल परीक्षा के लिए आवेदन संख्या भी अलग-अलग प्राप्त हुई थी, ऐसे विद्यार्थी अप्रेल परीक्षा के लिए अलग-अलग आवेदन संख्या पर जारी किए गए प्रवेश पत्रों पर यदि एक से अधिक परीक्षाएं देता है तो उसकी पात्रता निरस्त कर दी जाएगी। इससे संबंधित दिशा निर्देश प्रवेश पत्र में भी उल्लेखित हैं। साथ ही जेईई-एडवांस्ड परीक्षा की पात्रता के लिए 21 हजार विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाना, पहली बार 10 प्रतिशत अतिरिक्त ईडब्ल्यूएस आरक्षण लागू होना माना जा सकता है। जेईई-मेन एनटीए स्कोर के आधार पर एडवांस्ड देने की पात्रता कटआॅफ पर भी विद्यार्थियों की संख्या बढ़ने का प्रभाव पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *