आईआईटी में कम्प्यूटर साइंस स्टूडेंट्स की पहली पसंद 

शीर्ष 5 आईआईटी में कम्प्यूटर साइंस की क्लोजिंग रैंक 283 रही

देश की 23 आईआईटी की कुल 12477 सीटों के लिए इस वर्ष भी जोसा द्वारा ज्वाइंट काउंसलिंग करवाई गई। काउंसलिंग के सातों राउण्ड समाप्त होने के बाद जारी आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष भी विद्यार्थियों में कम्प्यूटर साइंस ब्रांच का क्रेज दिखाई दिया।
टॉपर्स की पहली पसंद शीर्ष आईआईटी की कम्प्यूटर साइंस ब्रांच ही रही। इस वर्ष टॉप 5 आईआईटी में कम्प्यूटर साइंस ब्रांच की क्लोजिंग रैंक एआईआर-283 रही, जिसमें सबसे टॉप पर आईआईटी मुम्बई कम्प्यूटर साइंस रही। इसकी सभी सीटों पर एआईआर-63 रैंक तक के स्टूडेंट्स को ही एडमिशन मिल सका। वहीं सीएस ब्रांच के लिए दूसरे नम्बर पर आईआईटी दिल्ली रही, जिसमें टॉप 93 रैंक तक आने वाले विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया। तीसरे नम्बर पर आईआईटी मद्रास में टॉप 188, चौथे पर आईआईटी कानपुर में 217, पांचवे पर आईआईटी खडगपुर में 283 रैंक तक के स्टूडेंट्स को प्रवेश मिला। साथ ही आईआईटी रूडकी की क्लोजिंग रैंक सीएस ब्रांच के लिए 412, गुवाहाटी 588, हैदराबाद की 616, वाराणसी की 796 एआईआर पर क्लोजिंग रैंक रही। इसके अलावा सभी 23 आईआईटी में कम्प्यूटर साइंस ब्रांच में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की स्थिति देखें तो इस ब्रांच में 5536 रैंक पर अंतिम प्रवेश मिल सका। यह प्रवेश आईआईटी जम्मू में लिया गया।

ये रहीं अन्य टॉप ब्रांच

 कम्प्यूटर साइंस के साथ-साथ कोर विषय की ब्रांच की ओर भी विद्यार्थियों का रूझान बहुत अधिक रहा। आंकड़ों का विश्लेषण करें तो इलेक्ट्रीकल, मैथ्स एण्ड कम्प्यूटिंग, इलेक्ट्रोनिक्स एण्ड कम्यूनिकेशन, मैकेनिकल, सिविल एवं इकोनोमिक्स ब्रांच विद्यार्थियों की प्राथमिकता में रही।

क्यों चुनते हैं सीएस

विद्यार्थियों द्वारा कम्प्यूटर साइंस ब्रांच का चयन करने का प्रमुख कारण सीएस के बढ़ते स्कोप के साथ-साथ बड़े पैकेज पर अच्छी कंपनियों में रोजगार का मिल जाना है। साथ ही इस ब्रांच द्वारा विद्यार्थी भविष्य में आगे की पढ़ाई के लिए भी देश-विदेश में अच्छे विकल्पों को चुन सकते हैं। विदेशी श्रेष्ठ संस्थानों द्वारा भी सीएस के विद्यार्थियों को चयन में प्राथमिकता मिल जाती है। विद्यार्थी कम्पयूटर साइंस ब्रांच के साथ वेब डवलपर, सॉफ्टवेयर टेस्टिंग, डाटाबेस एनालिस्ट, बिजनस एनालिस्ट, सिस्टम डिजाइनर एवं नेटवर्किंग इंजीनियर आदि क्षेत्रों में अपना कॅरियर बना रहे हैं।

11262 रैंक वाली छात्रा को मिली आईआईटी-सीएस

आईआईटी में प्रवेश के लिए छात्राओं को फीमेल पूल से मिलने वाली सीटें 14 प्रतिशत से बढ़ाकर 17 प्रतिशत करने पर पहली बार 11262वीं रैंक वाली छात्रा को भी आईआईटी में सीएस ब्रांच का आवंटन हुआ है। इस छात्रा को आईआईटी जम्मू में सीएस ब्रांच आवंटित हुई, वहीं दूसरी तरफ शीर्ष 5 आईआईटी में 980 रैंक वाली छात्रा को भी सीएस ब्रांच मिल गई। साथ ही आईआईटी मुम्बई की सीएस ब्रांच की क्लोजिंग रैंक 313, दिल्ली की 465, मद्रास की 690, कानपुर की 919 एआईआर क्लोजिंग रैंक रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *