जेईई-मेन अप्रेल आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही बड़ी संख्या में विद्यार्थी कर रहे आवेदन

दो दिनों में करीब 18 हजार नए विद्यार्थियों ने किए आवेदन,

ये वो विद्यार्थी हैं जिन्होंने जनवरी में परीक्षा नहीं दी

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा आयोजित की जा रही देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन अप्रेल के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो गई है। यह परीक्षा दो शिफ्टों में सुबह 9.30 से 12.30 एवं दोपहर 2.30 से 5.30 तक 7 से 20 अप्रेल के मध्य 273 परीक्षा शहरों में एवं विदेश के 09 परीक्षा शहरों में संपन्न होगी। आवेदन करने की अंतिम तिथि 7 मार्च तक रखी गई है। आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही बड़ी संख्या में विद्यार्थी रजिस्ट्रेशन करवा रहे हैं। बड़ी बात यह है कि ज्यादातर ऐसे विद्यार्थी भी रजिस्ट्रेशन करवा रहे हैं जिन्होंने जनवरी में परीक्षा ही नहीं दी। दो दिन में ही इस परीक्षा के लिए 18 हजार से अधिक स्टूडेंट्स प्रथम बार रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं।
अप्रेल जेईई-मेन परीक्षा में आवेदन करने के लिए वेबसाइट पर दो विकल्प उपलब्ध हैं। आवेदन करने के लिए एक विकल्प उन विद्यार्थियों के लिए है जिन्होंने पहले जेईई-मेन परीक्षा नहीं दी। दूसरा विकल्प उन विद्यार्थियों के लिए है, जो जनवरी में जेईई-मेन परीक्षा दे चुके हैं, जो अप्रेल माह में पुनः परीक्षा देना चाहते हैं। ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने पूर्व में जनवरी माह में जेईई-मेन आवेदन किया था, उन विद्यार्थियों को पुनः अप्रेल माह में आवेदन करने के लिए जेईई-मेन जनवरी का एप्लीकेशन नम्बर एवं ऑनलाइन आवेदन के दौरान बनाए गए पासवर्ड को डालकर लॉगइन कर परीक्षा शुल्क का भुगतान कर आवेदन करना होगा। जबकि पहली बार अप्रेल माह में परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों को पूर्ण आवेदन प्रक्रिया से गुजरना होगा और सभी जानकारियां भरनी होगी।
इधर जेईई-मेन द्वारा वेबसाइट पर डुप्लीकेट फॉर्म को ना भरने हेतु निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं, जिसके अनुसार यदि विद्यार्थी जेईई-मेन अप्रेल के लिए कोई भी डुप्लीकेट मल्टीपल आवेदन करता है तो उसके सभी आवेदन को बिना किसी सूचना के निरस्त कर दिया जाएगा।
जनवरी जेईई-मेन परीक्षा के लिए कुल 9 लाख 29 हजार 198 विद्यार्थियों ने आवेदन किया था, इनमें से ज्यादातर विद्यार्थी पुनः अपने जनवरी के एनटीए स्कोर को बढ़ाने के लिए अप्रेल जेईई-मेन परीक्षा में बैठेंगे। साथ ही जिस प्रकार नए विद्यार्थी जिन्होंने जनवरी जेईई-मेन परीक्षा के लिए आवेदन ही नहीं किया, वे बड़ी संख्या में अब अप्रेल परीक्षा के लिए आवेदन करते दिखाई दे रहे हैं। अतः अप्रेल-जेईई मेन परीक्षा के लिए विद्यार्थियों की संख्या आवश्यक रूप से बढ़ेगी। इसका बड़ा कारण प्रथम बार जेईई-मेन परीक्षा पूर्णतः सीबीटी एवं जनवरी माह में होना माना जा सकता है। यह भी संभावना है कि नए आवेदन करने वाले विद्यार्थियों में ऐसे विद्यार्थी शामिल हों जो पूर्व में सिलेबस पूरा नहीं कर पाए थे और कम्प्यूटर फ्रेंडली नहीं थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *