जेईई-मेन अप्रेल में जनवरी के मुकाबले  बढ़ेगी विद्यार्थियों की संख्या   

जेईई-मेन अप्रेल के लिए अब तक 70 हजार से ज्यादा नए विद्यार्थी पंजीकृत

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा आयोजित की जा रही देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन जो कि प्रथम बार साल में दो बार करवाई जा रही है। जनवरी जेईई-मेन जो कि 8 से 12 जनवरी के मध्य संपन्न हुई थी, उसमें 9 लाख 29 हजार 198 विद्यार्थी पंजीकृत हुए थे, जिसका परिणाम 19 जनवरी को 7 डेसीमल पर्सेन्टाइल एनटीए स्कोर के रूप में घोषित किया गया। अब 7 से 20 अप्रेल के मध्य होने वाली अप्रेल जेईई-मेन परीक्षा की आवेदन प्रक्रिया जारी है, जिसकी अंतिम तिथि 7 मार्च तक रखी गई है। वे विद्यार्थी जो पूर्व में जनवरी माह की परीक्षा में नहीं बैठे एवं साथ ही वे विद्यार्थी जो जनवरी जेईई-मेन परीक्षा देने के उपरान्त अपने परिणामों को बेहतर बनाने के लिए अप्रेल परीक्षा देने के इच्छुक है वे अब बड़ी संख्या में अप्रेल जेईई-मेन परीक्षा के लिए आवेदन करते दिखाई दे रहे हैं। आवेदन प्रारंभ होने के आठवें दिन तक 70 हजार से ज्यादा नए विद्यार्थियों ने आवेदन कर दिया है, जिन्होंने पहले जनवरी माह में परीक्षा ही नहीं दी। इस प्रकार जनवरी जेईई-मेन के मुकाबले अप्रेल जेईई-मेन में बैठने वाले विद्यार्थियों की संख्या में बढ़ोतरी निश्चित है। एक अनुमान के आधार पर अप्रेल जेईई-मेन में एक से डेढ़ लाख तक विद्यार्थी अधिक शामिल हो सकते हैं।

अप्रेल आवेदन में विद्यार्थियों की संख्या बढ़ने का संभवतः कारण जेईई-मेन की ऑल इंडिया रैंक बनाने में दोनों परीक्षाओं को देने के बावजूद अधिकतम एनटीए स्कोर द्वारा रैंक निकालना एवं जेईई-एडवांस्ड देने की पात्रता को भी अधिकतम एनटीए स्कोर के आधार पर गिना जाना माना जा सकता है। साथ ही नए विद्यार्थियों के पंजीकरण का कारण जेईई-मेन परीक्षा पूर्णतः सीबीटी एवं प्रथम बार समय से पूर्व जनवरी माह में होना संभावित है।

अप्रेल जेईई-मेन आवेदन के लिए वेबसाइट पर दो विकल्प उपलब्ध हैं, जिसमें एक विकल्प पूर्व में जनवरी माह में परीक्षा दे चुके विद्यार्थियों के लिए एवं दूसरा विकल्प प्रथम बार अप्रेल माह में बैठने वाले विद्यार्थियों के लिए है। विद्यार्थी अपनी योग्यतानुसार सही विकल्प पर जाकर ही अपना आवेदन करे, क्योंकि जेईई-मेन जनवरी व अप्रेल में आवेदन क्रमांक संख्या अलग-अलग है। जनवरी माह में परीक्षा दे चूके विद्यार्थी पूर्व में आवेदन के दौरान त्रुटि होने पर स्वयं, माता-पिता का नाम, जन्म दिनांक, जेण्डर, स्टेट ऑफ इलेजिब्लिटी को छोड़कर अन्य प्रविष्ठियों जैसे स्वयं का पता, मोबाइल नम्बर, ई-मेल आईडी, अकेडमिक डिटेल में बदलाव कर सकता है। साथ ही अप्रेल माह में प्रथम बार परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों के लिए आवेदन के दौरान प्रविष्ठियों में हुई गलतियों के लिए उन्हें 11 से 15 मार्च के मध्य करेक्शन का मौका दिया जाएगा। विद्यार्थी जिनकी पर्सेन्टाइल अच्छी नहीं है, उनके लिए जेईई-मेन एवं एडवांस्ड के अतिरिक्त बिट्स, वीआईटी, कॉमेडके, मनीपाल, एसआरएम, अमृता, यूपीएस, कलिंगा, ट्रिपलआईटी हैदराबाद जैसे अच्छे इंजीनियरिंग संस्थानों में प्रवेश के लिए आवेदन का विकल्प खुला हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *