जेईई-मेन आवेदन में हुई गलतियों में सुधार 11 से 

ईडब्ल्यूएस आरक्षण के लिए भी किए जा सकेंगे आवेदन

देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन जिसके अप्रेल आवेदन की अंतिम तिथि 7 मार्च तक रखी गई थी। अप्रेल आवेदन के लिए 3 लाख से ज्यादा नए विद्यार्थियों ने आवेदन किया, ये वे विद्यार्थी हैं जिन्होंने पूर्व में हुई जनवरी जेईई-मेन परीक्षा के लिए आवेदन ही नहीं किया था। साथ ही बड़ी संख्या में जेईई-मेन जनवरी परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों ने अपना एनटीए स्कोर बढ़ाने के लिए पुनः अप्रेल परीक्षा के लिए आवेदन किया। अतः अनुमान के अनुसार अप्रेल जेईई-मेन परीक्षा के लिए 11 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों के आवेदन करने की संभावना है। यह परीक्षा 7 से 20 अप्रेल के मध्य करवाई जाएगी। जेईई-मेन इनफोर्मेशन बुलेटिन के अनुसार जिन विद्यार्थियों ने पहली बार अप्रेल परीक्षा के लिए आवेदन किए हैं, उन्हें आवेदन के दौरान हुई त्रुटियों में 11 से 15 मार्च के मध्य सुधार का मौका दिया जाएगा। ये विद्यार्थी परीक्षा केन्द्रों में बदलाव के अतिरिक्त अन्य प्रविष्ठियों में आवश्यकतानुसार करेक्शन कर सकते हैं। साथ ही जेईई-मेन वेबसाइट पर फोटो व हस्ताक्षर से हुई गलतियों से संबंधित विकल्प भी उपलब्ध करवा दिया गया है। जेईई-मेन अप्रेल का प्रवेश पत्र 20 मार्च को जारी कर दिए जाएंगे। साथ ही ऑल इंडिया रैंक 30 अप्रेल को जारी की जाएगी।
विद्यार्थी जो ईडब्ल्यूएस आरक्षण के लिए आवेदन करना चाहते हैं, उन्हें 11 से 15 मार्च के मध्य ऑनलाइन आवेदन में इस कैटेगिरी का विशेष रूप से उल्लेख करना होगा। हालांकि विद्यार्थियों को इस प्रक्रिया के दौरान ईडब्ल्यूएस कैटेगिरी से संबंधित दस्तावेज को अपलोड करने की आवश्यकता नहीं होगी। परन्तु जेईई-एडवांस्ड के लिए आवेदन करने के लिए इस सर्टिफिकेट के अपलोड करना होगा, अतः विद्यार्थी कैटेगिरी संबंधित दस्तावेज बनवाकर अवश्य रखें। पूर्व में जेईई-मेन जनवरी व अप्रेल आवेदन के दौरान संबंधित कैटेगिरी को दर्शाने का विकल्प उपलब्ध नहीं था। 12वीं बोर्ड की परीक्षा में गत वर्ष शामिल हो चुके ऐसे विद्यार्थी जो जेईई-मेन की बोर्ड पात्रता को पूरा नहीं कर पाए थे और इस वर्ष बोर्ड इम्प्रूवमेंट की परीक्षा दे रहे हैं, ऐसे विद्यार्थी यदि एक या एक से अधिक विषयों में बोर्ड परीक्षा पुनः देते हैं तो उनकी विषय वार अधिकतम अंक को लेकर बोर्ड पात्रता निर्धारित की जाएगी और यदि वे सभी विषयों में 12वीं बोर्ड परीक्षा पुनः दे रहे हैं तो उसकी दोनों वर्षों में से अधिकतम अंक वाले वर्ष के परिणाम को लेते हुए बोर्ड पात्रता निर्धारित की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *