जेईई-मेन बीआर्क परीक्षा आज,,बीई-बीटेक के लिए प्रवेश परीक्षा 9 से 12 जनवरी तक

देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन जो कि इस वर्ष जनवरी व अप्रेल में पुर्णतः कम्प्यूटर बेस्ड होने जा रही है। इस परीक्षा की शुरूआत बीआर्क कोर्स के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा के साथ 8 जनवरी से होगी। इसके बाद 9 से 12 जनवरी तक बीटेक व बीई के लिए प्रवेश परीक्षा होगी। ये परीक्षाएं देश के 264 शहरों में व विदेशों के 9 शहरों में आयोजित की जाएंगी। राजस्थान में 11 शहरों में ये परीक्षा होगी, जिसमें अजमेर, अलवर, भरतपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर, जयपुर, जोधपुर, कोटा, सीकर, श्रीगंगानगर एवं उदयपुर शामिल हैं।
प्रत्येक दिन यह परीक्षा दो शिफ्टों में 9.30 से 12.30 एवं 2.30 से 5.30 के मध्य आयोजित होगी। बीआर्क व बी प्लानिंग की परीक्षा तीन भागों में होगी। प्रथम भाग मैथेमेटिक्स एवं द्वितीय भाग एप्टीट्यूड परीक्षा का मल्टीपल ऑब्जेक्टिव टाइप कम्प्यूटर बेस्ड होगा। तृतीय भाग ड्राइंग परीक्षा का पेपर-पेन बेस्ड होगा। कुल 390 अंकों के पेपर में 82 प्रश्न पूछे जाएंगे। मैथेमेटिक्स से 120 अंकों के 30, एप्टीट्यूड टेस्ट के 200 अंकों के 50 एवं ड्राइंग के कुल 70 अंकों के दो प्रश्न पूछे जाएंगे। प्रत्येक सही उत्तर के लिए 4 अंक एवं गलत उत्तर के लिए एक अंक ऋणात्मक का प्रावधान होगा।  यह ऋणात्मक मूल्यांकन मैथेमेटिक्स व एप्टीट्यूड टेस्ट पर ही लागू होगा। परीक्षा संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश विद्यार्थियों को जारी किए गए प्रवेश पत्रों के साथ-साथ अलग से एडवाइजरी के रूप में जेईई-मेन वेबसाइट पर एवं ई-मेल द्वारा भी उपलब्ध करवा दिए गए हैं। जिसके अनुसार विद्यार्थियों को बीआर्क परीक्षा के लिए खुद का ज्योमेक्ट्री बॉक्स, पेंसिंल, कलर पैंसिल्स, क्रेयोंस साथ में लाना अनिवार्य है।
वहीं 9 जनवरी से शुरू होने जा रही बीई-बीटेक परीक्षा के लिए विद्यार्थियों को विद्यार्थियों को परीक्षा हाल में इलेक्ट्रोनिक डिवाइसेज ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। विद्यार्थियों को परीक्षा हाल में ही पेन-पेंसिल व रफ कार्य करने हेतु शीट दी जाएगी। विद्यार्थी दी गई शीट पर अपना नाम, रोल नम्बर लिखकर ही उपयोग कर सकेगा। अंत में परीक्षा समाप्त होने पर यह शीट परीक्षक को पुनः लौटानी होगी।
विद्यार्थी को परीक्षा प्रारंभ होने से दो घंटे पूर्व रिपोर्ट करने की भी सलाह दी गई है। साथ ही परीक्षा प्रारंभ होने से आधा घंटे पहले परीक्षा केन्द्रों में प्रवेश रोक दिए जाएंगे। विद्यार्थियों को आवश्यक रूप से आवेदन के दौरान लगाए गए फोटोग्राफ के साथ-साथ एक और ओरिजनल आईडी प्रुफ जैसे की पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी, पासपोर्ट, आधार कार्ड, राशन कार्ड में से किसी भी एक फोडो आईडी प्रुफ लाने के निर्देश दिए गए हैं। आईडी प्रुफ के तौर पर स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी एवं कोचिंग संस्थान की आईडी मान्य नहीं होगी और ना ही आईडी की छाया प्रति एवं मोबाइल रिकोर्डेड आईडी मान्य होगी। परीक्षा के दौरान विद्यार्थी का फोटो, हस्ताक्षर एवं बाएं अंगूठे के निशान अटेंडेंस शीट पर लिया जाएगा।
 विद्यार्थियों के हित में पहली बार जेईई-मेन एनटीए द्वारा परीक्षा केन्द्रों की निर्धारित लोकेशन देखने के लिए सेंटर लोकेशन का विकल्प भी वेबसाइट पर उपलब्ध करवा दिया गया है। इसके माध्यम से विद्यार्थियों को परीक्षा के दिन सेंटर पर पहुंचने में काफी सुविधा होगी। विद्यार्थी इस सुविधा का उपयोग कर सेंटर पर पहुंचने के समय के अनुरूप अपनी व्यवस्था कर सकते हैं। पहले कई बार परीक्षा केन्द्रों के नाम एक ही होने से असमंजस होता था जो अब नहीं होगा। विद्यार्थियों की जनवरी व अप्रेल दोनों परीक्षाओं में अधिकतम प्राप्तांकों पर निकाली गई 7 डेसीमल पर्सेन्टाइल के आधार पर ही उनकी ऑल इंडिया रैंक जारी की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *