जेईई मेन विद्यार्थी अब अक्टूबर में ही जान सकेंगे परीक्षा तिथि व केन्द्र

अब तक 1 लाख 50 हजार से ज्यादा विद्यार्थियों ने किया आवेदन

देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन की आवेदन प्रक्रिया जारी है, इस वर्ष यह परीक्षा एनटीए द्वारा दो बार जनवरी और अप्रैल के माह में पूर्णतः कंप्यूटर बेस्ड कराई जा रही है। जनवरी माह में यह परीक्षा 6 जनवरी से 20 जनवरी के मध्य दो शिफ्टों में देश के 264 शहरों में संपन्न होगी। अब तक 1 लाख 50 हजार से ज्यादा विद्यार्थी जेईई मेन में शामिल होने के लिए आवेदन कर चुके है। आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितंबर तक रखी गई है। आॅनलाइन आवेदन के दौरान विद्यार्थियों को परीक्षा देने की तारीख एवं शिफ्ट चुनने का मौका नहीं दिया गया है, क्योंकि एनटीए द्वारा सभी विद्यार्थियों को जेईई मेन परीक्षा देने के लिए हर स्लाॅट में बराबर बराबर संख्या में विद्यार्थियों को परीक्षा देने के लिए बैठाया जाएगा। पूर्व में जारी इन्फाॅर्मेशन बुलेटिन के अनुसार विद्यार्थियों को जनवरी माह में होने वाली एनटीए परीक्षा के लिए तय परीक्षा केन्द्र, परीक्षा तिथि व शिफ्ट, 15 नवंबर को आवंटित किए जाने थे, लेकिन एनटीए की ओर से हाल ही में जारी विज्ञप्ति के अनुसार विद्यार्थियों को 5 अक्टूबर को ही उनका परीक्षा तिथि एवं शिफ्ट आवंटित किए जाएंगे। साथ ही परीक्षा केन्द्र 21 अक्टूबर को आवंटित होगा।

आॅनलाइन आवेदन के दौरान विद्यार्थी डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग, पेटीएम एवं ई-चालान के माध्यम से परीक्षा शुल्क का भुगतान कर सकते हैं। ई-चालान द्वारा फीस भुगतान करने के संबंध में एनटीए की ओर से जारी विज्ञप्ति में विद्यार्थियों के लिए एसबीआई बैंक के हेल्प डेस्क नंबर जारी कर दिए गए हैं।

संशोधन के लिए मिलेगा एक सप्ताह

विद्यार्थियों को एक सप्ताह के लिए 8 से 14 अक्टूबर के बीच भरे हुए आवेदन के कुछ तय विवरणों में संशोधन करने का मौका मिलेगा। जिसके लिए विद्यार्थियों को एक उचित कारण भी देना होगा। इसके उपरांत विद्यार्थी अपने द्वारा भरे गए आवेदन में कोई संशोधन नहीं कर सकेगा। डिप्लोमाधारक विद्यार्थी जेईई मेन परीक्षा द्वारा क्वालीफाई होकर एडवांस देने की योग्यता के लिए पात्र होंगे, लेकिन जेईई मेन स्काॅर के आधार पर उन्हें एनआईटी, ट्रिपलआईटी व जेएफटीआई में प्रवेश के पात्र नहीं होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *