जेईई मेन-2019-ऐसे जारी होगी आल इंडिया रैंक

एनटीए स्कोर पर ये संस्थान रहेंगे विकल्प

वर्ष में दो बार हुई जेईई-मेन परीक्षा जिसके माध्यम से देश के 31 एनआईटी, 23 ट्रिपलआईटी एवं 23 जीएफटीआई की लगभग 26 हजार सीटों पर प्रवेश मिलेगा, इस परीक्षा के परिणाम के लिए वेबसाइट पर 30 अप्रेल की तिथि प्रस्तावित है लेकिन परिणाम इससे पहले भी आ सकता है। जनवरी जेईई-मेन पेपर-1 में 9 लाख 29 हजार 198 विद्यार्थियों ने तथा अप्रेल जेईई-मेन में 9 लाख 35 हजार 741 विद्यार्थी पंजीकृत हुए। परिणाम के दिन जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं विद्यार्थियों में अपने एनटीए स्कोर के आधार पर बनने वाली आॅल इंडिया रैंक से मिलने वाले काॅलेजों को लेकर उत्सुकता नजर आने लगी है।
जेईई-मेन परीक्षाओं द्वारा प्रत्येक विद्यार्थी का कुल एनटीए स्कोर एवं विषयवार एनटीए स्कोर 7 डेसिमल पर्सेन्टाइल तक निकाला जाएगा। विद्यार्थियों का एनटीए स्कोर उनके परीक्षा सेशन में कुल बैठने वाले विद्यार्थी और उस सेशन में उनके बराबर एवं नीचे राॅ स्कोर वाले विद्यार्थियों की संख्या के आधार पर निकाला जाएगा। विद्यार्थियों के जनवरी व अप्रेल दोनों परीक्षाओं में से उच्चतम कुल एनटीए स्कोर को नार्मेलाइज कर आल इंडिया रैंक जारी की जाएगी। आल इंडिया रैंक बनाने के दौरान यदि दो विद्यार्थियों का कुल एनटीए स्कोर समान रहता है तो सर्वप्रथम दोनों विद्यार्थियों के मैथेमेटिक्स के पर्सेन्टाइल स्कोर, उसके उपरांत फिजिक्स के पर्सेन्टाइल स्कोर और फिर अंत में कैमेस्ट्री के पर्सेन्टाइल स्कोर को आॅल इंडिया रैंक बनाने के लिए आधार माना जाएगा। इन सभी स्कोर में समानता रहने के बाद जेईई-मेन आल इंडिया रैंक बनाने के लिए अधिक आयु को प्राथमिकता दी जाएगी।

इस एनटीए स्कोर पर इन संस्थानों में मिलेगा प्रवेश

जेईई-मेन आल इंडिया रैंक बनाने के लिए अधिकतम एनटीए स्कोर पर यदि विद्यार्थी का एनटीए स्कोर 99 पर्सेन्टाइल से ज्यादा स्कोर ज्यादा रहता है तो उन्हें टाॅप एनआईटी तिरछी, वारंगल, सूरतकल, इलाहाबाद, जयपुर, कालीकट, सूरत, नागपुर, भोपाल, राउरकेला जैसे एनआईटी में कोर ब्रांच मिलने की संभावना है। विद्यार्थी जिनका पर्सेन्टाइल 98 से 99 के मध्य बनेगा उन्हें टाॅप एनआईटी के अन्य ब्रांचों के साथ-साथ जालंधर, कुरूक्षेत्र, जमशेदपुर, दिल्ली, गोवा, अगरतला, हमीरपुर, दुर्गापुर जैसे एनआईटी, ट्रिपलआईटी इलाहाबाद, कोटा में कोर ब्रांच मिलने की संभावना रहेगा, ऐसे विद्यार्थी जिनका पर्सेन्टाइल 97 से 98 के मध्य रहेगा उन्हें टाॅप 10 एनआईटी की अन्य ब्रांचों के अतिरिक्त पटना, रायपुर, सिल्चर, उत्तराखंड, श्रीनगर, आंध्रप्रदेश, अरूणाचल प्रदेश जैसे एनआईटी की कोर ब्रांचों के साथ-साथ ट्रिपलआईटी ग्वालियर, जबलपुर, पेक चंडीगढ़ में कोर ब्रांच मिलने की संभावनाएं बन सकती है, वहीं ऐसे विद्यार्थी जिनका पर्सेन्टाइल 94 से 97 के मध्य रहेगा, उन्हें टाॅप 20 एनआईटी की कोर ब्रांचों के अलावा अन्य ब्रांचों के साथ-साथ नए ट्रिपलआईटी जैसे तिरछी, नागपुर, पूणे, सूरत, भोपाल, वडोदरा, लखनऊ, रांची, गुवाहाटी आदि में कोर ब्रांचों के साथ-साथ जीएफटीआई, आईआईईएसटी शिवपुर, बिट्स मिसरा, जेएनयू, हैदराबाद यूनिवर्सिटी जैसे काॅलेजों में ब्रंाच मिलने की संभावना रहेगी। विद्यार्थी जिनका पर्सेन्टाइल 90 से 94 के मध्य रहेगा, उन्हें नोर्थ ईस्ट के एनआईटी जैसे सिक्किम, मणिपुर, मेघालय, नागालैंड, मिजोरम में कोर ब्रांचों के साथ-साथ अन्य एनआईटी की लोअर ब्रांचें, नए ट्रिपलआईटी एवं जीएफटीआई में प्रवेश मिलने की संभावना बन सकती है।

जेईई-मेन के आधार पर इन काॅलेजों में भी करें आवेदन

जेईई मेन आल इंडिया रैंक एवं एनटीए स्कोर के आधार पर मिलने वाले काॅलेजों में प्रवेश के लिए विद्यार्थी अपने एनटीए स्कोर के अनुसार बीटीयू, एनएसआईटी, ट्रिपलआईटी दिल्ली, हैदराबाद, बैंगलुरू, आईईएससी बैंगलुरू, थापर पटियाला, एलएनएमआईटी जयपुर, निरमा अहमदाबाद, जेपी नोएडा, शिवनादर नोएडा, एनसीए गुडगांव, आईसीटी मुम्बई, आईपीयू दिल्ली, पीडीपीयू गांधीनगर, जैसे काॅलेजों के लिए अलग से आवेदन कर सकता है। इनमें से कई काॅलेजों की आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है। अतः विद्यार्थी संबंधित वेबसाइट पर जाकर उपरोक्त काॅलेजों के लिए आवेदन कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *