जेईई-मेन- 2021, यूनीक परीक्षार्थियों की संख्या से तय होगी एडवांस्ड कटऑफ

मार्च सेशन 16 से 18 के मध्य

देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन जिसका मार्च सेशन 16 से 18 मार्च के मध्य 6 पारियों में देश-विदेश के 331 परीक्षा शहरों में होना प्रस्तावित है। इस परीक्षा के प्रवेश पत्र जारी किए जा चुके हैं। फरवरी की तरह मार्च में भी बड़ी संख्या में विद्यार्थियों के बैठने की संभावना है।

इस वर्ष जेईई-मेन परीक्षा 4 सेशन में करवाई जा रही है। ऐसे में बड़ी संख्या में विद्यार्थी अपने एनटीए स्कोर को बेहतर बनाने के लिए चारों परीक्षाओं में भाग लेने के इच्छुक नजर आ रहे हैं। यदि विद्यार्थी चारों परीक्षा देता है तो चारों परीक्षाओं को उच्चतम एनटीए स्कोर के आधार पर विद्यार्थी की जेईई -मेन ऑलइंडिया रैंक एवं एडवांस्ड की पात्रता घोषित होती है। इसके साथ ही विद्यार्थियों की आल इंडिया रैंक एवं एडवांस्ड की पात्रता चारों सेशन में बैठने वाले यूनिक कैंडिंडेट के आधार पर ही निकाली जाएगी। यदि गत वर्ष के आंकड़ों को देखें तो सभी कैटेगिरी में मिलाकर कुल शीर्ष 2 लाख 50 हजार विद्यार्थी जेईई-मेन के आधार पर एडवांस्ड देने के लिए पात्र घोषित किए गए, इसमें सामान्य श्रेणी के 1 लाख 1250, सामान्य ईडब्ल्यूएस के 25000, ओबीसी एनसीएल 67500, एससी के 37500, एसटी के 18750 विद्यार्थी शामिल हैं। एडवांस्ड के लिए क्वालीफाई करने वाले इन विद्यार्थियों में सामान्य श्रेणी की कटऑफ 90.316335 पर्सेन्टाइल, ईडब्ल्यूएस 70.2435518, ओबीसी की 72.8887969, एससी की 50.1760624 एवं एसटी की 39.0696101 पर्सेन्टाइल रही। गत वर्ष 2 सेशन में हुई जेईई-मेन परीक्षा में कुल 10 लाख 23 हजार यूनीक विद्यार्थियों ने परीक्षा दी थी। यदि गत वर्ष की भांति ही इस वर्ष भी शीर्ष ढाई लाख विद्यार्थी ही जेईई-एडवांस्ड परीक्षा देने के लिए क्वालीफाई किए जाते हैं। वहीं इस वर्ष चारों सेशन में बैठने वाले यूनीक कैंडिडेट गत वर्ष से कम रहती है तो कटऑफ गिर सकती है, इसके अलावा यदि गत वर्ष के मुकाबले ज्यादा यूनीक कैंडिडेट परीक्षा देते हैं तो यह कटऑफ बढ़ सकती है। विद्यार्थी जिनका फरवरी का एनटीए स्कोर उपरोक्त दी गई कटऑफ से कम है, वे आगे के सत्रों में होने वाली जेईई-मेन परीक्षा में अपने एनटीए स्कोर को बेहतर बनाने के लिए प्रयास करें, क्योंकि इस वर्ष उपरोक्त कटऑफ में परिवर्तन संभावित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *