83 से 87 पर्सेन्टाइल के बीच रह सकती है सामान्य श्रेणी की कटऑफ

30 अप्रैल को जारी होगी जेईई मेन आल इंडिया रैंक एवं एडवांस्ड के लिए पात्रता

जनवरी व अप्रैल माह में हुई देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन, जिसके लिए 9 लाख 58 हजार विद्यार्थियों ने आवेदन किया था। जेईई-मेन परीक्षा के एनटीए स्कोर के आधार पर चयनित होने वाले शीर्ष 2 लाख 45 हजार विद्यार्थियों को परीक्षा देने का मौका मिलेगा। जेईई-एडवांस्ड परीक्षा के लिए सामान्य श्रेणी के 113925, सामान्य ईडब्ल्यूएस श्रेणी के 9800, ओबीसी के 66150, एससी के 36750, एसटी के 18375 स्टूडेंट्स पात्र घोषित किए जाएंगे। जेईई-मेन के आधार पर जेईई-एडवांस्ड परीक्षा के लिए क्वालीफाई होने वाले विद्यार्थियों की संख्या हर साल बढ़ती जा रही है। इस संख्या के बढ़ने का सीधा असर जेईई-एडवांस्ड परीक्षा देने की कटऑफ पर पड़ेगा। जनवरी जेईई मेन परीक्षा के पेपर 1 के लिए 9 लाख 29 हजार 198 विद्यार्थियों ने आवेदन किया। जिसमें से 8 लाख 74 हजार 469 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। इसके साथ ही अप्रैल परीक्षा के लिए 9 लाख 35 हजार 741 विद्यार्थियों ने आवेदन किया है। जनवरी जेईई मेन परीक्षा के आधार पर एक परसेन्टाइल पर 8 हजार 744 विद्यार्थी थे। गत वर्षों के कटऑफ ट्रेण्ड को देखेते हुए इस वर्ष जेईई मेन के एनटीए स्कोर के आधार पर सामान्य कैटेगरी के 83 से 87 परसेन्टाइल के मध्य, ओबीसी कैटेगरी के 62 से 66 परसेन्टाइल के मध्य, एससी कैटेगरी के 40 से 44 परसेन्टाइल एवं एसटी कैटेगरी के 28 से 31 परसेन्टाइल के मध्य स्कोर प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को जेईई एडवांस्ड देने का मौका मिल सकता है।
गत वर्षो के जेईई एडवांस्ड पात्रता के ट्रेंण्ड को देखते हुए प्रत्येक कैटेगरी में जारी की गई कट ऑफ पर कई हजारों ज्यादा विद्यार्थी क्वालीफाई होते आ रहे हैं। इस वर्ष भी यह अनुमान लगाया जा रहा है कि 2.45 लाख स्टूडेंट्स के मुकाबले कई हजारों अधिक स्टूडेंट्स को जेईई-एडवांस्ड देने का मौका मिलेगा। जेईई मेन जनवरी एवं अप्रैल परीक्षा के पेपर 1 बीई, बीटेक के उच्चतम एनटीए स्कोर के आधार पर जेईई एडवांस्ड देने की पात्रता एवं जेईई मेन की आल  इंडिया रैंक 30 अप्रैल को जारी की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *